SemiconIndia 2023 : भारत में इलेक्ट्रॉनिक्स का भविष्य | semiconductor conference 2023

5/5 - (1 vote)

SemiconIndia 2023 सेमीकंडक्टर पर Annual Global Summit का दूसरा संस्करण है, जो उद्योग और industry associations के साथ Partnerships करता है , यह इंडिया सेमीकंडक्टर मिशन (आईएसएम) द्वारा आयोजित किया गया है। यह कार्यक्रम 28-30 जुलाई, 2023 तक गांधीनगर, गुजरात के महात्मा मंदिर कन्वेंशन सेंटर में आयोजित किया जाएगा।

सेमीकॉनइंडिया 2023 का विषय “भारत की सेमीकंडक्टर यात्रा को तेज करना” है। तीन दिवसीय कार्यक्रम में सेमीकंडक्टर डिजाइन, manufacturingऔर technology development पर चर्चा और technical session होंगे। यह उद्योग के नेताओं, सरकारी अधिकारियों और निवेशकों को एक साथ आने और भारत में सेमीकंडक्टर उद्योग के भविष्य पर चर्चा करने के लिए एक मंच भी देता है

SemiconIndia 2023 क्या है ?

सेमीकॉनइंडिया 2023 भारत के लिए Global Semiconductor Hub के रूप में अपनी क्षमता दिखाता है , यह आयोजन दुनिया की अग्रणी सेमीकंडक्टर कंपनी , सरकारी अधिकारियों और निवेशकों को एक साथ लाएगा। यह भारत को new partnerships बनाने और semiconductor industry में निवेश आकर्षित करने के लिए एक मंच भी प्रदान करता है

सेमीकॉनइंडिया को भारत सरकार ने दिसम्बर 2021 में शरू किया गया है ,इस सम्मेलन में semiconductor design, manufacturing और technology development पर चर्चा और इसे आने वाले भविष्य में कैसे आगे विकास कैसे किया जाये और इसके बारे में योजनाए बनेंगी , इसमें 5G , Artificial Intelligence और Internet of Things जैसे विशिष्ट विषयों पर ध्यान दिया जायेगा ऐसा अनुमान है

इस SemiconIndia conference के अलावा  सेमीकॉनइंडिया 2023 में semiconductor products और services की एक exhibition होगा जिसमे कंपनी उनके प्रोडक्ट्स को इन्वेस्टर को दिखा सकती है , यह सेमीकंडकर बनाने वाली कंपनी केलिए उनके प्रोडक्ट को दिखाने का सबसे अच्छा मंच है

सेमी कंडक्टर क्या है

सेमीकंडक्टर को अर्धचालक पदार्थ कहते है , इसका उपयोग करंट को नियंत्रित करने ने केलिए उपयोग होता है , यह सिलिकॉन जैसी धातु से बनायीं जाती है , यह चालक और कुचालक के बिच में होती है , एक ऐसा Material है जिसका electrical conductivity value सुचालक जैसे की तांबा, और विसंवाहक जैसे की ग्लास के बीच होता है। यह पदार्थ तापमान बढ़ने पर इसकी प्रतिरोधकता कम हो जाती है

अर्धचालक शुद्ध तत्वों, जैसे सिलिकॉन या जर्मेनियम, जैसे गैलियम आर्सेनाइड से बने होते हैं। अर्धचालक में  इलेक्ट्रॉन किसी चालक की तरह इधर-उधर घूमने के लिए स्वतंत्र नहीं होते हैं। इसके बजाय यह atomic nucleus द्वारा अपने स्थान पर बने रहते हैं। हालाँकि, जब एक इलेक्ट्रॉन को पर्याप्त ऊर्जा दी जाती है, तो वह अपने परमाणु से मुक्त हो सकता है और अर्धचालक के चारों ओर घूम सकता है। इसे “डोपिंग” कहते है

सेमीकंडक्टर का उपयोग Computer, smart phones और television सहित अलग प्रकार के electronic equipment में किया जाता है। इनका उपयोग सौर सेल और अन्य renewable energy technologies में भी किया जाता है

अर्धचालकों का भविष्य क्या है ?

अर्धचालकों का भविष्य बहोत ही उज्ज्वल है क्योकि आने वाले वर्षों में अर्धचालकों की मांग बढ़ने की उम्मीद है, क्योंकि ज्यादा से ज्यादा उपकरण आपस में जुड़े हुए हैं।

इसीलिए अर्धचालक की जरूरत बढ़ने वाली है इसलिए भारत ने भी इस क्षेत्र में विकास कर रहा है SemiconIndia 2023 में भारत विश्व के सामने इस क्षेत्र में निवेश करने केलिए आमंत्रित करता है  , graphene और carbon nanotubes जैसी नई सामग्रियों का विकास कर सकते है , जो पारंपरिक अर्धचालकों की तुलना में और भी बेहतर प्रदर्शन प्रदान कर सकते हैं नई manufacturing प्रक्रियाओं का विकास, जो अर्धचालकों को सस्ता और अधिक energy efficient बना सकता है

भारत में कौन सी कंपनी सेमीकंडक्टर बना रही है?

वर्तमान में भारत में कोई सेमीकंडक्टर निर्माण कंपनी नहीं है जो 28nm या उससे नीचे प्रोसेस नोड पर चिप्स का उत्पादन कर रही हो। हालाँकि, ऐसी कई कंपनियाँ हैं जो भारत में सेमीकंडक्टर value chain में शामिल हैं

1. SPEL Semiconductor

एसपीईएल सेमीकंडक्टर लिमिटेड एक भारतीय कंपनी है जो सेमीकंडक्टर असेंबली और टेस्ट (ओएसएटी) सेवाएं देती है , यह भारत की पहली और एकमात्र सेमीकंडक्टर आईसी असेंबली और परीक्षण सुविधा वाली कंपनी है। SPEL की स्थापना 1984 में भारत सरकार और नेशनल इलेक्ट्रॉनिक्स कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया (NECI) द्वारा की गई थी।

2. ASM Technologies

एएसएम टेक्नोलॉजीज एक भारतीय कंपनी है जो सेमीकंडक्टर इंजीनियरिंग सेवाएं देती है। इसकी स्थापना 1992 में हुई थी और इसका मुख्यालय हैदराबाद में है

3. Tata Elxsi

टाटा एलेक्सी एक भारतीय कंपनी है जो सेमीकंडक्टर, automotive, broadcasting, communication और healthcare industries को डिजाइन और technology services प्रदान करती है। इसकी स्थापना 1993 में हुई थी और इसका मुख्यालय बैंगलोर में है। Tata Elxsi के पास 7,000 से अधिक इंजीनियरों और डिजाइनरों की एक टीम है जो 40 से अधिक देशों में ग्राहकों के साथ काम करती है

4. MosChip Technologies

मॉसचिप टेक्नोलॉजी एक भारतीय कंपनी है जो electronics, networkingऔर telecommunication industries के लिए सेमीकंडक्टर उत्पादों को डिजाइन और विकसित करती है। इसकी स्थापना 1999 में हुई थी और इसका मुख्यालय हैदराबाद में है।

5. Einfochips

Einfochips एक भारतीय कंपनी है जो सेमीकंडक्टर डिज़ाइन और इंजीनियरिंग की सेवाएँ देती करती है। इसकी स्थापना 1994 में हुई थी और इसका मुख्यालय अहमदाबाद में है

और पढ़े : धोलेरा स्मार्ट सिटी क्या है ?

सेमी कंडक्टर का महत्व

अर्धचालक आधुनिक डिजिटल अर्थव्यवस्था केलिए बहोत जरुरी है  हैं। सेमीकंडक्टर उपयोग स्मार्टफोन और लैपटॉप से ​​लेकर कारों और medical devices को बनाने केलिए किया जाता है , यह अर्धचालक इतना महत्वपूर्ण है की उन्हें “नया तेल” भी कहते है

वैश्विक सेमीकंडक्टर बाज़ार खरबों डॉलर का है, और यह तेज़ी से बढ़ रहा है।आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, 5G और इंटरनेट ऑफ थिंग्स जैसी नई तकनीकों को अपनाने से सेमीकंडक्टर्स की मांग बढ़ रही है।

सेमीकॉन इंडिया भारत का अवसर

भारत सेमीकंडक्टर के निर्माण के लिए global center बनने के लिए अच्छी स्थिति में है। देश में सेमीकंडक्टर्स के लिए एक बड़ा और बढ़ता हुआ बाजार और कुशल इंजीनियरों और सरकारी नीतिओ से भारत में इसके विकास के पुरे अवसर है

हाल के वर्षों में भारत सरकार ने सेमीकंडक्टर उद्योग को बढ़ावा देने के लिए कई कदम उठाए हैं। इनमें आईएसएम की स्थापना, सेमीकंडक्टर कंपनियों को कर छूट और प्रोत्साहन प्रदान करना और semiconductor research से विकास होने की संभावना है

निष्कर्ष

भविष्य की धातु यानि की अर्धचालक , इस क्षेत्र में भारत अपना विकास कर रहा है , इसके लिए SemiconIndia 2023 आयोजन गया है जिसे इस क्षेत्र केलिए निवेशक आ सके और इस क्षेत्र में अपना उत्पादन कर सके , भविष्य में यह अर्धचालक की जरुरत बहोत ही ज्यादा होने वाली है इसलिए इसमें भारत पहले से ही अपना विकास कर रहा है , आज के इस खास SemiconIndia 2023 क्या है के खास ब्लॉगपोस्ट में  इतना है ऐसे ही और ब्लॉगपोस्ट केलिए हमारे अन्य ब्लॉगपोस्ट जरुरी पढ़िए और इसके बारे में और जानकारी केलिए आप हमारा सपर्क कर सकते है

FAQ

 

सेमीकॉन इंडिया प्रोग्राम क्या है?

सेमीकॉन इंडिया उन कंपनी को मौका देती है जो सेमीकंडक्टर बनाती है , इन सभी कंपनी केलिए यह प्रोग्राम एक प्लेटफार्म है जहा पर कंपनी उनके प्रोडक्ट के बारे में बताती है

1 thought on “SemiconIndia 2023 : भारत में इलेक्ट्रॉनिक्स का भविष्य | semiconductor conference 2023”

Leave a Comment