गूगल क्लाउड क्या है | google cloud kya hota hai | google cloud kya hai

Rate this post

भविष्य का सबसे लोकप्रिय क्लाउंड कंप्यूटिंग होने वाला है क्योकि यह अब हमारी जरूररत बनने वाली है , क्योकि हमारे डेटा को संग्रह करने केलिए हम अब पुरानी तकनीक का उपयोग नहीं कर सकते , इसीलिए हमे सीखना चाहिए की google cloud kya hai और इसके बारे में हमे बारीकी से समझना होगा ,हालांकि क्लाउड स्टोरेज अन्य भी है लेकिन आज हम गूगल क्लाउड क्या है in hindi इसके बारे में अभ्यास करेंगे।

Google cloud क्या है ( Google cloud kya hai )

सबसे पहले गूगल क्लाउड क्या है को समझने से पहले यह समजले की क्लाउड क्या होता है , तो क्लाउड का मतलब होता है बादल , लेकिन यह बदल अवकाश में दिखाय देते है वह नहीं है , यहां क्लाउड का सही मतलब है स्टोर होना , आपका कोई डेटा आपके हार्डवेरे में सेव होने की वजह इंटरनेट की से किसी और सर्वेर पर सेव हो, जहा से आप आपका डेटा का उपयोग कर सकते हो। यह तकनीक को cloud computing कहते है।

गूगल क्लाउड का उपयोग क्यों करें?

यह सेवा अनेक कपनिया देती है जिसमे सबसे अच्छी google cloud को माना जाता है , जिसकी हम बात कर रहे है , बेहतर इसीलिए क्योकि यह भरोसेमंद है क्योकि गूगल नाम जिसमे हो उसपर हम आसानी से भरोसा कर सकते है और हमारा डेटा लीक होने के काफी कम कम संभावना है।

सामान्यतः google cloud platform को वेबसाइट डेवलपर और एप्लीकेशन डेवलपर उपयोग करते है , क्योकि अगर एप्लीकेशन बनाना हो तो हजारो GB का डेटा को संग्रह करने केलिए हमे किसी क्लाउड स्टोरेज की जरूरत पड़ती है इसलिए google cloud का हम उपयोग करते है।

गूगल क्लाउड को कब विकसित किया गया?

जैसे जैसे क्लाउड की जरूरत बढ़ती गई वैसे ही कई कपनीओ ने यह सेवाकी शरुआत की , किसी ने मुफ्त में किया तो किसीने चार्ज लेना चालू किया , उसके बाद गूगल को लगा की यह भविष्य केलिए अच्छा है तो 7 अप्रैल 2008 को इनकी शरुआत की गई और दुनिया को एक नया कुछ देखने को मिला , उसके बाद लोगो ने अपने फोटो और डॉक्यूमेंट क्लाउड में सेव करना शरू किया और लोगो को अच्छा लगा।

गूगल के इस स्टार्टअप के सफलता के बाद ही एप्लीकेशन का जमाना आया और इसके लिए सर्वर की जरुरत होने लगी , इसीलिए google cloud platform service शरू किया उसमे अलग अलग काम केलिए अलग अलग सर्विस को शरू किया गया।

भारत में गूगल क्लाउड क्षेत्र कौन-कौन से हैं?

गूगल ने भारत में दूसरा cloud region स्थापित किया है , हाल में ही गूगल ने दिल्ली में ग्राहकों की सुविधा केलिए यह क्षेत्र लॉन्च किया है , इसे पहले महाराष्ट्र में मुंबई में गूगल ने भारत में अपना पहला cloud region स्थापित किया है , देखा जाये तो एशिया में  10 ऐसे क्षेत्र है जिसमे भारत में 2 है यह गर्व की बात है। भारत में यह क्षेत्र शरू होने से हमे काफी फायदा मिलेगा यह निर्णय भारत के इंटरनेट के उपयोग को दर्शाता है।

और पढ़े : साइबर सिक्योरिटी क्या है ?

वर्तमान में क्लाउड में कितने प्रकार के सर्विस मॉडल है?

जैसे जैसे उपयोग बढ़ता गया इसीलिए गूगल ने समय समय पर अलग अलग सर्विस चालू किया , तब से गूगल ने कुल सात सर्विस मॉडल है। जिसमे से है एप्लीकेशन डेवलपर केलिए और अन्य जरुरत के हिसाब से उपयोग केलिए app engine , अपने डेटा को सर्वर में सेव करने केलिए cloud storage , gmail और youtube जैसे प्लेटफार्म केलिए compute engine , और पब्लिक केलिए अन्य उपयोग केलिए contaner engine जैसी सर्विस है।

Google app Engine

platform as a service से चलने वाली यह सर्विस है , यह एक होस्टिंग है जिसपर कोई भी एप्लीकेशन डेवलपर अपना सर्वर यहाँ पर लिंक करता है जिसे application के सारे डेटा यहाँ पर सेव रहे।

Google cloud storage

जैसे की हमने सीखा हम  हमारा डेटा किसी भी सर्वर पर सेव करते है तो यह वही सेवा है जिसमे हम अपनी important files google cloud पर स्टोर करते है , जिसे आप कहा पर भी हो लेकिन आपका डेटा हमेशा आपके साथ रहेगा। आप गूगल में google cloud platform account बनाकर अपने जरुरी दस्तावेज को यहां सेव कर सकते है। 

Google compute engine

यह सर्विस बड़े बड़े प्लेटफार्म को चलाने में मदद करती है , जैसे की Youtube जिसे सबसे ज्यादा स्टोरेज चाहिए होगा क्योकि लाखो वीडियो हररोज अपलोड होते है तो इनके लिए यह प्लेटफार्म सहायता करता है और Gmail को भी यह सेवा देता है।

Google container engine

Docker Containers जैसे स्टोरेज में मदद करता है यह सामान्यतः coding को सेव रखता है और अन्य system file को सेव रखता है जिसके बारे में हम अलग से विस्तार से पढ़ेंगे।

और पढ़े : hosting in hindi 

गूगल क्लाउड सर्टिफिकेशन

गूगल हमेशा कुछ न कुछ कोर्स लेके आता है , इसकेलिए गूगल ने प्रोत्साहन देने केलिए traning program शुरू किये , जिसमे machine learning और application development जैसे कोर्स शामिल है , और अन्य की सारे कोर्स मौजूद है लेकिन ज्यादातर यह दोनों कोर्स गूगल में ज्यादा प्रचलित है अगर आपको यह कोर्स करना है तो है तो उनकी ऑफिसियल वेबसाइट में जाकर ज्यादा जानकारी ले सकते है।

और पढ़े : google admob क्या है ?

What is the price of Google Cloud in India?

अगर आप गूगल का क्लाउड का उपयोग करना चाहते है तो आपको अपने उपयोग के हिसाब से पैसा देना पड़ेगा , मतलब आपको जितना GB की स्टोरेज चाहिए आपको उतने का ही पैसा देना होगा तो चलिए जानते है क्या है google cloud pricing. 

गूगल क्लाउड

  • Free plan : अगर आपको 15 GB तक आपका डेटा है तो आपको कोई भी पैसा देना नहीं पड़ेगा , आप मुफ्त ही उपयोग कर सकेंगे। यह प्लान ज्यादातर पर्सनल उपयोग केलिए होता है इसमें हम अपने कुछ डॉक्युमेंट रखते है ,और अपनी Gmail के देता भी सेव होते रहते है ,और अपनी pictures भी सेव करते है यह सारा डेटा अगर 15 GB से कम का है तो आप मुफ्त में उपयोग कर सकते है। google cloud account बनाके आप फ्री का प्लान का उपयोग कर सकते है। 
  • 100 GB : आपका  डेटा अगर ज्यादा है तो गूगल का 100 GB का plan है जिसमे आप अपने डेटा को सेव के सकते है , जिसकी प्राइसिंग देखे तो महीने के तकरीबन 130 रूपया और और एक साल के 1300 रुपया है। इसमें आप अपने परिवार को जोड़ सकते है।
  • 200 GB : यह cloud plan में आप 200 GB तक अपने डेटा को स्टोर रख सकते है , इनकी pricing देखे तो 210 रूपया महीने के और 2100 रूपया साल के है ,इसमें भी  परिवार को जोड़ सकते है और इसमें खास बात यह है की आपको Extra member benefits मिलेंगे।
  • 2 TB : सबसे बड़ा प्लान गूगल क्लाउड का 2 tb का है , इसमे आपको महीने के तकरीबन 650 Rs charge देना पड़ेगा और 6500 year का charge देना पड़ेगा। इसमें भी सारी सुविधाएं मिलेंगी।

निष्कर्ष

आज हमने सीखा google cloud kya hota hai जिसमे हमने सीखा गूगल क्लाउड के उपयोग के बारे में और गूगल क्लाउड के बारे में कुछ अच्छी बाटे हमने सीखी , हमने यह सीखा की भविष्य में cloud computing कितना ज्यादा महत्वपूर्ण होने वाला है इसीलिए हमे हो सके तो हम भी से अगर इसके बारे में अपना भविष्य सोचे तो जरूर सफल होंगे , क्योकि भविष्य में आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस और क्लाउड कंप्यूटिंग सबसे ज्यादा सफल technology है।

धन्यवाद

जय हिन्द

गूगल क्लाउड में कितना स्टोरेज है?

गूगल कुछ GB तक हमे मुफ्त उपयोग केलिए देता है जिसमे हम 15 GB तक स्टोरेज का उपयोग कर सकते है जिसमे हमारे अपने इमेल्स और गूगल ड्राइव भी शामिल है उस सभी का स्टोरेज हम कर सकते है लेकिन अगर आप ज्यादा स्टोरेज लेना चाहते है तो आपको पैसा देके ज्यादा स्टोरेज ले सकते है

कौन सा क्लाउड ज्यादातर इस्तेमाल किया जाता है?

सबसे ज्यादा गूगल क्लाउड का उपयोग किया जाता है क्योकि उसमे 15 GB तक स्टोरेज मुफ्त में दिया जाता है दूसरे भी उपयोग किये जाते है जैसे ऐमज़ॉन का aws यानि की amazon का web service cloud इसका उपयोग भी ज्यादातर किया जाता है।

नासा किस क्लाउड का उपयोग करता है?

नासा संस्था कोनसे क्लाउड का उपयोग करती होंगी ? आपको प्रश्न होता होगा तो समजिये नासा amazon web service cloud का उपयोग करती है ऐसा एक अनुमान लगाया जाता है क्योकि यह सबसे ज्यादा सुरक्षित क्लाउड स्टोरेज माना जाता है

भारत में किस क्लाउड की डिमांड है?

भारत में माइक्रोसॉफ्ट क्लाउड की बहोत डिमांड है क्योकि यह सबसे अच्छी सर्विस देता है , गूगल के आलावा माइक्रोसॉफ्ट ऐसी कंपनी है जिसपर भारतीय सबसे ज्यादा भरोसा करते है

क्लाउड परीक्षक का वेतन क्या है?

क्लाउड कंप्यूटिंग की टेक्नोलॉजी से इनको चलाने और संचालन करने केलिए कई सारि नौकरी है जिसमे इ cloud tester का वेतन भारतीय रूपया में तकरीबन 8 से 9 लाख रूपया होता है।

Leave a Comment

en_USEnglish